Click here for Myspace Layouts

मार्च 12, 2012

आईना


आईना क्यूँ न दूँ कि तमाशा कहें जिसे
ऐसा कहाँ से लाऊँ कि तुझ सा कहें जिसे,

हसरत ने ला रखा तेरी बज़्म-ए-ख़याल में
गुलदस्ता-ए-निगाह सुवैदा ( दिल का दाग़) कहें जिसे,

फूँका है किसने गोश-ए-मुहब्बत (सनम के कान) में ऐ ख़ुदा !
अफ़सून-ए-इन्तज़ार (इंतज़ार का जादू) तमन्ना कहें जिसे,

सर पर हुजूम-ए-दर्द-ए-ग़रीबी (दर्द की इन्तिहा) से डालिये
वो एक मुश्त-ए-ख़ाक (एक मुट्ठी ख़ाक) कि सहरा (रेगिस्तान) कहें जिसे,

है चश्म-ए-तर (भीगी आँख) में हसरत-ए-दीदार से निहां (छुपा)
शौक़-ए-अ़ना-गुसेख़्ता (बेलगाम शौक) दरिया कहें जिसे,

दरकार है शगुफ़्तन-ए-गुल हाये-ऐश (फूलों का खिलने) को
सुबह-ए-बहार पम्बा-ए-मीना (शराब में भीगा रुई का फाहा) कहें जिसे,

"गा़लिब" बुरा न मान जो वाइज़ (उपदेशक) बुरा कहे
ऐसा भी कोई है कि सब अच्छा कहें जिसे ?

12 टिप्‍पणियां:

  1. ग़ालिब बुरा न मान जो वाईज बुरा कहे.... वाह!
    सादर आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति ...आपका आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. ग़ालिब को पढ़ना. वाह! अपना अलग ही अनुभव है,,,,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत उम्दा शेर ...
    आभार पढवाने के लिए ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह ! ग़ालिब की कलम से निकला एक और नायाब मोती...दिल में मुहब्बत हो तो दुनिया कैसे रंग बदलती है...इंतजार भी जादुई असर करता है, एक मुठ्ठी धूल रेगिस्तान का भरम देती है, एक आँसू दरिया बन जाता है, फूलूँ का खिलना नशे की याद दिलाता है और भला उस खुदा के सिवा कोई दूसरा अच्छा है भी ?

    उत्तर देंहटाएं
  6. ऐसा भी कोई है कि सब अच्छा कहें जिसे?

    सुभान-अल्लाह! बहुत उम्दा पंक्तियाँ.

    उत्तर देंहटाएं
  7. GALIB BURA N MAN JO WISE BURA KAHE,
    AISA BHI KOE HAE KI SAB ACHHA JISE

    GALIB SAHAB KI ACHHI GAZAL,
    WAISE BHI GALIB KA KOE JAWAB NAHI

    उत्तर देंहटाएं
  8. आप सभी लोगों का बहुत बहुत शुक्रिया।

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुन्दर प्रस्तुति.....बहुत बहुत बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  10. फूँका है किसने गोश-ए-मुहब्बत में ऐ ख़ुदा !
    अफ़सून-ए-इन्तज़ार तमन्ना कहें जिसे,

    भई वाह. ग़ालिब भी ख़ूब है और एक ही हुआ है.

    उत्तर देंहटाएं
  11. भूषण जी , प्रसन्न जी शुक्रिया आपका ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत सुंदर । मेरे पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं

जो दे उसका भी भला....जो न दे उसका भी भला...